ताज़ा खबर
पहले टेस्ट में हार की कगार पर भारत, इन वजहों ने कोहली को किया परेशान

Sharing is caring!

टी-20 और वनडे सीरीज के बाद भारत और न्यूजीलैंड के बीच वेलिंग्टन में खेले जा रहे दो टेस्ट मैचों की सीरीज के पहले मैच में भारत दूसरे दिन ही बैकफुट पर आ गई गई। दूसरे दिन सुबह ही भारतीय टीम महज 165 रन पर ऑलआउट हो गई। जिसके बाद न्यूज़ीलैंड ने सधी शुरुआत करते हुए फिलहाल पांच विकेट खोकर 215 रन बना चुकी है। इस मैच में पहली पारी के आधार पर भारत पर न्यूज़ीलैंड ने 51 रनों की बढ़त हाशिल कर चुकी है। न्यूज़ीलैंड इस बढ़तको कम से कम 150 रन के आसपास ले जाना चाहेगी। यदि न्यूज़ीलैंड ऐसा करने में सफल होती है तो भारत के लिए वापसी मुश्किल हो जाएगी। आइये इस मैच में कोहली की मुश्किलें बढ़ाने वाले कुछ तथ्य पर ध्यान दें।

ओपनर की नाकामी: रोहित शर्मा और शिखर धवन की अनुपस्थिति में भारतीय टीम के ओपनर टेस्ट मैच में वो शुरुआत नहीं दिला पाई जिसकी उम्मीद कोहली पहसे से लगा बैठे थे। नियमित ओपनर रोहित शर्मा की अनुपस्थिति कोहली को वनडे में भी परेशान किया था जबकि टेस्ट में भी उनकी कमी देखने को मिल रही है।
मध्यमक्रम में बल्लेबाजों की नाकामी: ओपनर बल्लेबाजों के साथ-साथ मध्यमक्रम में भी कोहली को बल्लेबाजों ने निराश किया। ओपनर के सस्ते में आउट होने के बाद भारतीय टीम के किसी भी बल्लेबाजों ने जिम्मेदारी लेते हुए मैदान पर अधिक समय बिताने में नाकाम रहे जो कोहली की दूसरी परेशानी बानी।
केन विलियमसन की बल्लेबाजी: अपने बल्लेबाजों की नाकामी के बाद विपक्षी कप्तान केन विलियमसन की धुंआधार पारी ने भी कोहली की चिंता बढ़ाई। भारत को ईशान शर्मा ने शुरूआती सफलता तो दिलाया लेकिन विलियमसन को किसी भी गेंदबाज रोकने में सफल नहीं रहे। विलियमसन ने 89 रनों की शानदार पारी खेलकर टीम को संभाला।
बुमराह की नाकामी: इशांत शर्मा और मोहम्मद शमी ने शुरुआत में सधी हुई गेंदबाजी कर न्यूज़ीलैंडको परेशान किया लेकिन भारतीय टीम के मुख्य हथियार जसप्रीत बुमराह को इस मैच में अब तक कोई विकेट न मिलना कोहली की परेशानी का चौथा कारण है। बुमराह से कप्तान को जो उम्मीदें थी बुमराह उस पर खड़े नहीं उत्तर सके।